सुनंदा केसः थरूर से फिर होगी पूछताछ, जानें अमर सिंह से पूछे गए कौन से सवाल

सुनंदा केसः थरूर से फिर होगी पूछताछ, जानें अमर सिंह से पूछे गए कौन से सवाल

नई दिल्ली. पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेसी नेता शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर की हत्या के...

केजरीवाल बोले- किरण को हराने के लिए गोयल, उपाध्याय, हर्षवर्धन रच रहे साजिश

केजरीवाल बोले- किरण को हराने के लिए गोयल, उपाध्याय, हर्षवर्धन रच रहे साजिश

नई दिल्ली. दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार कर रहे आप आदमी पार्टी संयोजक अरविंद केजरीवाल ने...

जापानी बंधक के बदले रिहा की जाएगी आतंकी साजिदा मुबारक

जापानी बंधक के बदले रिहा की जाएगी आतंकी साजिदा मुबारक

अम्मान। जॉर्डन की जेल में बंद इराकी आतंकी साजिदा मुबारक अतरौस अल-रिशावी को रिहा किया जाएगा। ताजा...

पाकिस्तान ने फिर की सीमा पर 12 घंटे गोलीबारी

पाकिस्तान ने फिर की सीमा पर 12 घंटे गोलीबारी

श्रीनगर। पाकिस्तानी फौज ने जम्मू-कश्मीर में अपनी हरकतें जारी रखते हुए शुक्रवार को भी संघर्षविराम...

  • सुनंदा केसः थरूर से फिर होगी पूछताछ, जानें अमर सिंह से पूछे गए कौन से सवाल

    सुनंदा केसः थरूर से फिर होगी पूछताछ, जानें अमर सिंह से पूछे गए कौन से सवाल

    Wednesday, 28 January 2015 15:06
  • केजरीवाल बोले- किरण को हराने के लिए गोयल, उपाध्याय, हर्षवर्धन रच रहे साजिश

    केजरीवाल बोले- किरण को हराने के लिए गोयल, उपाध्याय, हर्षवर्धन रच रहे साजिश

    Wednesday, 28 January 2015 15:09
  • जापानी बंधक के बदले रिहा की जाएगी आतंकी साजिदा मुबारक

    जापानी बंधक के बदले रिहा की जाएगी आतंकी साजिदा मुबारक

    Wednesday, 28 January 2015 15:22
  • पाकिस्तान ने फिर की सीमा पर 12 घंटे गोलीबारी

    पाकिस्तान ने फिर की सीमा पर 12 घंटे गोलीबारी

    Friday, 07 August 2015 18:09
  • श्रीनगर में लहराए लश्कर व पाक के झंडे, पोस्टर

    श्रीनगर में लहराए लश्कर व पाक के झंडे, पोस्टर

    Friday, 21 August 2015 16:45

राज रंजना

पुलिस प्लेटफार्म

लखनऊ पुलिस का नया कारनामा, मृतक को बना दिया कच्चा शराब बनाने का आरोपी

लखनऊ. मलीहाबाद शराब त्रासदी के बाद हरक में आई पुलिस का नया कारनामा सामने आया है। पारा में कच्ची शराब बनाने के आरोप में पुलिस ने तीन साल पहले मृतक को आरोपी बनाकर सरगर्मी से तलाश कर रही है। पुलिस का आरोप है कि मृतक जहरीली शराब बनाने के काम में लगा हुआ है।  मिली जानकारी के अनुसार, पारा थानांतर्गत आने वाले सरौसा सदर निवासी राजू पुत्र जगनू की तीन साल पहले मौत हो गई है। पारा पुलिस राजू के नाम पर भी मुकदमा दर्ज कर लिया और उसकी सरगर्मी से तलाश कर रही है। परिजनों की माने तो उसकी खोज बीन में कई बार पारा पुलिस दरवाजे तक आ चुकी है और उसे हाजिर करने का दबाव बना रही है। रिकॉर्ड में था शराब कारोबारी   पुलिस के रिकॉर्ड में वह कच्ची शराब का कारोबारी था।

विविध रंग

इनवेस्टर्स मीट: नोएडा में लगेगा सैमसंग प्लांट, पांच हजार करोड़ के एमओयू साइन

लखनऊ. मोबाइल उद्योग को बढ़ावा देने के लिए यूपी सरकार ने एक नई पहल की है। इसके तहत मंगलवार को ई-उत्तर प्रदेश इनवेस्टर्स मीट का आयोजन किया गया। इसमें देशभर से आए उद्यमियों का जमावड़ा लगा। सीएम अखिलेश यादव ने इनवेस्टर्स मीट की अध्यक्षता की। इस दौरान उन्होंने इंडियन सेल्युलर एसोसिएशन, लावा स्पाइस और इओएन के साथ कई अहम योजनाओं को लेकर करीब पांच हजार करोड़ रुपए के मेमोरेंडम ऑफ अंडरस्टैंडिंग (एमओयू) पर साइन किए। इससे कुल 50 हजार युवाओं को रोजगार मिलेगा। मीट में इसके अलावा नोएडा में सैमसंग मोबाइल प्लांट और गाजियाबाद में आईटी पार्क बनाने पर भी फैसला लिया गया। इन्वेस्टर्स मीट में इलेक्ट्रॉनिक इंडस्ट्री एसोसिएशन ऑफ इंडिया के जनरल सेक्रेटरी राजू गोयल, इंडिया इलेक्ट्रॉनिक्स एंड सेमी कंडक्टर के चेयरमैन अशोक चंडक, इंडियन सेल्युलर एसोसिएशन के नेशनल प्रेसिडेंट पंकज मोहिंदू, स्पाइस ग्रुप के दिलीप मोदी, एम्बेसी ऑफ रिपब्लिक कोरिया

विज्ञापन

 

-मायावती ने दिये सपा के साथ नरमी के संकेत 

-केसरिया ब्रिगेड की छाती पर लोटने लगा सांप

लखनऊ। वर्श 1993 के वे नारे और दिन आज बेतरह आते हैं जब यूपी के चप्पे-चप्पे में नारा लगा था-’मिले मुलायम कांषीराम,------लग गये जय श्रीराम।’ यह महज एक नारा नहीं बल्कि एक हकीकत थी जो 1992 के विधानसभा चुनाव में एक कड़वी सच्चाई बनकर उभरी और उस साल सपा-बसपा गठबंधन ने सूबे में सभी पार्टियों का सूपड़ा साफ कर दिया। यह गठबंधन और उसकी बेषुमार सफलता न तो मनुवादियों को हजम होनी थी और न ही हुई। यह बात आज एकबार फिर सिर्फ इसलिए मौजूं हो चली है कि अब यूपी में ’मिल गये माया और अखिलेष---- लग गया सब गणेवेष’ का नारा सुनाई देने लगा है।

सूत्रों का कहना है कि यदि याद करें और सच्चाई में जाने की कोषिष करें तो मीराबाई गेस्ट हाउस यानि स्टेट गेस्ट हाउस मीराबाई मार्ग काण्ड सिर्फ कुछ तथाकथित मुलायमवादियों और असली मनुवादियों की देन थी जिसके नायक न तो मुलायम थे और न ही उनके खानदान का कोई दूसरा आदमी बल्कि एक मनुवादी था जिसे लखनउ में लोग अन्ना षुक्ला के नाम से जानते रहे हैं। और आज जब सपा-बसपा यानि अरसे से दबे कुचले दो तबके को प्रश्रय देने वाले दो राजनीतिक दल एकबार फिर से मनुवादियों द्वारा पैदा किया गया वैमनस्य भुलाकर गले मिलने को आतुर हैं तो यही मनुवादी उनके बीच फिर जहर बोने के मसौदे तैयार करने लगे हैं।

राजनीतिक पंडितों का कहना है कि पिछले कई महीनों से लगातार जिस तरह के संकेत बहुजन समाज पार्टी की तरफ से दिए जा रहे हैं वह कहीं न कहीं इस बात की ओर इशारा है कि आने वाले दिनों में प्रदेश की दो धुर विरोधी पार्टियां मतभेद भुलाकर फिर से एक हो सकती हैं। इस खबर ने उन आसुरी ताकतों की चूलें हिला दी हैं जो दलितों और पिछड़ों की सत्ता को हमेषा से हिकारत की नजर से देखती रही हैं।

सूचनाओं के मुताबिक बसपा सुप्रीमो मायावती को अब इस बात का पक्का इल्म हो चुका है कि मनुवादी ताकतें अपनी गोटी लाल करने को पिछड़ों और दलितों को लगातार दो फाड़ रखने की कुत्सित चालें चलती रही हैं। 1995 में कांषीराम द्वारा सपा-बसपा सरकार से समर्थन वापसी की घोशणा भी इसी साजिष का एक अंग रही है। वैसे बसपा सुप्रीमों मायावती ने अब सपा के साथ संबंधों में नरमी दिखाई है। इसे प्रदेश ही नहीं बल्कि राष्ट्रीय राजनीति में एक नए संकेत के तौर पर देखा जा रहा है। इस नये राजनीतिक समीकरण ने भाजपाइयों की नींदें हराम कर दी हैं। खबर यह भी है कि जल्दी ही पटना में मायावती और अखिलेश यादव एक ही मंच को साझा कर सकते हैं।

इस वक्त यह बात इसलिए उठ रही है क्योंकि राष्ट्रीय जनता दल के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव राष्ट्रपति चुनाव के बाद पटना में बड़ी रैली करने जा रहे हैं। उधर अखिलेश यादव का कहना है कि समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, कांग्रेस और अन्य दलों को 27 अगस्त को लालू यादव के नेतृत्व में होने जा रही पटना की रैली में बुलाया गया है। अखिलेश ने कहा कि उन्हें न्योता मिल चुका है और वह जाएंगे। इस रैली में बसपा नेताओं को भी बुलाया गया है और वह (मायावती) भी जाएंगी। अखिलेश ने कहा कि इस रैली में ही भाजपा के खिलाफ 2019 लोकसभा चुनाव लड़ने की रणनीति तैयार होगी। उन्होंने कहा कि यह रैली राजनीति की भी नई दिशा तय करेगी।

इसके विपपरीत सपा और बसपा की बढ़ती नजदीकियों और उनके गठबंधन की अटकलों के लेकर जब भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता गौरव भाटिया से बात की गई तो उन्होंने कहा-“ये दोनों ही पार्टियां विचारधाराचिहीन हैं। ये पार्टियां जनता का विश्वास जीतने में असमर्थ रही हैं जबकि भाजपा के पास मोदी और योगी के रूप में दो बड़े नेता हैं, जिनकी राजनीति बिल्कुल स्वच्छ है। ऐसे में अगर ये दोनों पार्टियां एक हो भी जाती हैं तो उससे भाजपा को कोई फर्क नहीं पड़ेगा।”

 

Overall Rating (0)

0 out of 5 stars
  • No comments found