सुनंदा केसः थरूर से फिर होगी पूछताछ, जानें अमर सिंह से पूछे गए कौन से सवाल

सुनंदा केसः थरूर से फिर होगी पूछताछ, जानें अमर सिंह से पूछे गए कौन से सवाल

नई दिल्ली. पूर्व केंद्रीय मंत्री और कांग्रेसी नेता शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर की हत्या के...

केजरीवाल बोले- किरण को हराने के लिए गोयल, उपाध्याय, हर्षवर्धन रच रहे साजिश

केजरीवाल बोले- किरण को हराने के लिए गोयल, उपाध्याय, हर्षवर्धन रच रहे साजिश

नई दिल्ली. दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए प्रचार कर रहे आप आदमी पार्टी संयोजक अरविंद केजरीवाल ने...

जापानी बंधक के बदले रिहा की जाएगी आतंकी साजिदा मुबारक

जापानी बंधक के बदले रिहा की जाएगी आतंकी साजिदा मुबारक

अम्मान। जॉर्डन की जेल में बंद इराकी आतंकी साजिदा मुबारक अतरौस अल-रिशावी को रिहा किया जाएगा। ताजा...

पाकिस्तान ने फिर की सीमा पर 12 घंटे गोलीबारी

पाकिस्तान ने फिर की सीमा पर 12 घंटे गोलीबारी

श्रीनगर। पाकिस्तानी फौज ने जम्मू-कश्मीर में अपनी हरकतें जारी रखते हुए शुक्रवार को भी संघर्षविराम...

  • सुनंदा केसः थरूर से फिर होगी पूछताछ, जानें अमर सिंह से पूछे गए कौन से सवाल

    सुनंदा केसः थरूर से फिर होगी पूछताछ, जानें अमर सिंह से पूछे गए कौन से सवाल

    Wednesday, 28 January 2015 15:06
  • केजरीवाल बोले- किरण को हराने के लिए गोयल, उपाध्याय, हर्षवर्धन रच रहे साजिश

    केजरीवाल बोले- किरण को हराने के लिए गोयल, उपाध्याय, हर्षवर्धन रच रहे साजिश

    Wednesday, 28 January 2015 15:09
  • जापानी बंधक के बदले रिहा की जाएगी आतंकी साजिदा मुबारक

    जापानी बंधक के बदले रिहा की जाएगी आतंकी साजिदा मुबारक

    Wednesday, 28 January 2015 15:22
  • पाकिस्तान ने फिर की सीमा पर 12 घंटे गोलीबारी

    पाकिस्तान ने फिर की सीमा पर 12 घंटे गोलीबारी

    Friday, 07 August 2015 18:09
  • श्रीनगर में लहराए लश्कर व पाक के झंडे, पोस्टर

    श्रीनगर में लहराए लश्कर व पाक के झंडे, पोस्टर

    Friday, 21 August 2015 16:45

राज रंजना

पुलिस प्लेटफार्म

लखनऊ पुलिस का नया कारनामा, मृतक को बना दिया कच्चा शराब बनाने का आरोपी

लखनऊ. मलीहाबाद शराब त्रासदी के बाद हरक में आई पुलिस का नया कारनामा सामने आया है। पारा में कच्ची शराब बनाने के आरोप में पुलिस ने तीन साल पहले मृतक को आरोपी बनाकर सरगर्मी से तलाश कर रही है। पुलिस का आरोप है कि मृतक जहरीली शराब बनाने के काम में लगा हुआ है।  मिली जानकारी के अनुसार, पारा थानांतर्गत आने वाले सरौसा सदर निवासी राजू पुत्र जगनू की तीन साल पहले मौत हो गई है। पारा पुलिस राजू के नाम पर भी मुकदमा दर्ज कर लिया और उसकी सरगर्मी से तलाश कर रही है। परिजनों की माने तो उसकी खोज बीन में कई बार पारा पुलिस दरवाजे तक आ चुकी है और उसे हाजिर करने का दबाव बना रही है। रिकॉर्ड में था शराब कारोबारी   पुलिस के रिकॉर्ड में वह कच्ची शराब का कारोबारी था।

विविध रंग

इनवेस्टर्स मीट: नोएडा में लगेगा सैमसंग प्लांट, पांच हजार करोड़ के एमओयू साइन

लखनऊ. मोबाइल उद्योग को बढ़ावा देने के लिए यूपी सरकार ने एक नई पहल की है। इसके तहत मंगलवार को ई-उत्तर प्रदेश इनवेस्टर्स मीट का आयोजन किया गया। इसमें देशभर से आए उद्यमियों का जमावड़ा लगा। सीएम अखिलेश यादव ने इनवेस्टर्स मीट की अध्यक्षता की। इस दौरान उन्होंने इंडियन सेल्युलर एसोसिएशन, लावा स्पाइस और इओएन के साथ कई अहम योजनाओं को लेकर करीब पांच हजार करोड़ रुपए के मेमोरेंडम ऑफ अंडरस्टैंडिंग (एमओयू) पर साइन किए। इससे कुल 50 हजार युवाओं को रोजगार मिलेगा। मीट में इसके अलावा नोएडा में सैमसंग मोबाइल प्लांट और गाजियाबाद में आईटी पार्क बनाने पर भी फैसला लिया गया। इन्वेस्टर्स मीट में इलेक्ट्रॉनिक इंडस्ट्री एसोसिएशन ऑफ इंडिया के जनरल सेक्रेटरी राजू गोयल, इंडिया इलेक्ट्रॉनिक्स एंड सेमी कंडक्टर के चेयरमैन अशोक चंडक, इंडियन सेल्युलर एसोसिएशन के नेशनल प्रेसिडेंट पंकज मोहिंदू, स्पाइस ग्रुप के दिलीप मोदी, एम्बेसी ऑफ रिपब्लिक कोरिया

विज्ञापन

   

नई दिल्ली। सहारनपुर की जातीय हिंसा के लिए भीम आर्मी, भाजपा सांसद राघव लखनपाल और प्रषासन जिम्मेदार रहा है।

यह खुलासा उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा सौंपी गयी उस रिपोर्ट में किया गया है जो केंद्रीय गृह मंत्रालय को सौंपी गयी है। छह पृश्ठों में भेजी गई इस रिपोर्ट के अनुसार प्रशासन की लापरवाही और भीम आर्मी की वजह से जातीय हिंसा को बढ़ावा मिला। दूसरी तरफ रिपोर्ट में हिंसा के लिए प्रशासन की नाकामी को भी जिम्मेदार माना गया है। 

यह भी कहा गया है कि हिंसा के दौरान सहारनपुर के दोनों बड़े अधिकारियों डीएम और एसएसपी के बीच कोई समन्वय नहीं था। जिसकी वजह से हिंसा को काबू करने में खासी दिक्कत का सामना करना पड़ा। न्यूज चौनल आजतक के अनुसार रिपोर्ट में लिखा है कि सहारनपुर हिंसा में भीम आर्मी के संस्थापक चंद्रशेखर और बीएसपी के पूर्व विधायक रविंदर ने हिंसा में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हुए हिंसक प्रदर्शन किए।

रिपोर्ट के अनुसार चंद्रशेखर की अगुवाई वाली भीम आर्मी ने राजपूतों और दलितों के बीच जानकर हिंसा को बढ़ावा देने का काम किया। इस दौरान आसपास के इलाकों के कुछ असामाजिक तत्वों ने सहारनपुर घटना से राजनीतिक फायदा उठाने की भी कोशिश की। रिपोर्ट के अनुसार ये हिंसा एक सोची समझी साजिश थी। यहां पहले भी कई राजनीतिक संगठनों हिंसा भड़काने का काम किया है। रिपोर्ट में सहारनपुर की पिछली हिंसाओं का भी हवाला दिया गया और बताया गया कि कैसे और कब-कब यहां हिंसा भड़काने की कोशिश की गई।

दूसरी तरफ रिपोर्ट में भाजपा सांसद की भूमिका को खासा आपत्तिजनक माना गया है जिन्हें केंद्रीय गृहमंत्रालय को भेजी गई रिपोर्ट में हिंसा भड़काने के लिए जिम्मेदार माना गया है। रिपोर्ट में बताया गया कि भाजपा सांसद ने बिना अनुमति के शोभायात्रा निकाली बल्कि जानबूझकर इसे अल्पसंख्यक इलाके से निकाला गया। वहीं रिपोर्ट में सहारनपुर जातीय हिंसा के लिए प्रशासन की नाकामी को जिम्मेदार माना है। रिपोर्ट में कहा गया कि इस साल 5 पांच अप्रैल को प्रशासन ने महाराणा प्रताप जयंती पर शोभायात्रा की इजाजत देने से पहले ना तो हालात को जायजा लिया और ना ही पुलिस से इसकी ग्राउंड रिपोर्ट मांगी। रिपोर्ट में 23 मई हुई बसपा सुप्रीमो मायावती की रैली का भी जिक्र है। जिसमें कहा गया कि दलित समुदाय के कई नेताओं ने दूसरी जाति की महिलाओं के बारे में आपत्तिजनक बातें कहीं।

 

Overall Rating (0)

0 out of 5 stars
  • No comments found